प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 11 महीनों के भीतर 158 महिलाओं का अपहरण

हाथरस और बलरामपुर में हुए जघन्य अपराध को संज्ञान में लेते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत की|

लेकिन उत्तर प्रदेश में रोजाना हो रही महिला अपराध की घटनाओं से ये साफ़ हो जाता है कि अपराधियों पर इस मिशन मिशन का कोई असर नहीं हो रहा है|

ऐसी ही कुछ घटना अलीगढ़ की है जहां पुलिस के द्वारा ही महिला पुलिस अधिकारी के साथ दुष्कर्म किया गया है| सवाल ये बनता है की जब रक्षक ही भक्षक का रूप धारण कर लेंगे तब आम जनता का क्या होगा|

वहीं दूसरी ओर प्रयागराज में शिवकुटी इलाके की रहने वाली शादीशुदा युवती को नशीली कोल्ड ड्रिंक पिलाकर कंस्ट्रक्शन ठेकेदार ने उसके साथ दुष्कर्म किया| बल्कि उसकी अश्लील विडियो और फोटो भी अपने मोबाइल से बना ली| शिकायत करने पर पीड़िता का विडियो और फोटो इन्टरनेट पर अपलोड करने की धमकी दी और युवती को 1 महीने तक ब्लैकमेल करता रहा|

दूसरी तरफ प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 11 महीनों के भीतर हुई महिला अपराध की घटनाओं की तरफ-

महीना –  अपहरण की घटनाएं

जनवरी  – 21    जुलाई –  17

फरवरी  – 14    अगस्त – 16

मार्च – 23      सितम्बर – 16

अप्रैल – 05     अक्टूबर – 16

मई – 08

जून – 14

ये कुल 158 घटनाएं है जो की सिर्फ एक जिले की है ऐसी ही कई घटनाये है जो रोज उत्तर प्रदेश में हो रही है| इन घटनाओं से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है की उत्तर प्रदेश में अपराध की क्या स्थिति है और मिशन शक्ति का अपराधियों पर कितना असर हो रहा है|

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here