यूपी में जंगलराज की तस्वीर बलरामपुर में पत्रकार को जिंदा जलाया

योगी सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा चुकी है ऐसा कहना बिलकुल गलत नहीं होगा क्यूंकि आए दिन बढ़ रहे अपराध के बीच अब अपराधी पत्रकार को भी नहीं बक्श रहे है ऐसा ही कुछ हुआ जहां बलरामपुर में एक पत्रकार को जिंदा जला कर उसकी हत्या कर दी गई।

मामले को लेकर योगी सरकार ने कोई भी एक्शन नहीं लिया जिसकी कीमत आज फिर एक पत्रकार को अपनी जान गवां कर चुकानी पड़ी है।

बलरामपुर के कलवारी गांव के रहने वाले पत्रकार राकेश सिंह के घर में शुक्रवार को दबंगों ने घर में घुसकर कथित आग लगा दी। राकेश सिंह और उनके एक साथी पिंटू साहू की वजह से मौत हो गई।

एक तरफ यूपी में पत्रकारों को जलाकर मौत के घाट उतार दिया जा रहा है, तो दूसरी तरफ यूपी के मुखिया सीएम योगी आदित्यनाथ हैदराबाद में जाकर बीजेपी पार्टी का प्रचार कर रहे हैं। वो वहां जाकर हैदराबाद के नाम को बदलने में लगे हैं और अपने भाषण के दौरान यूपी को अपराध मुख्त होने का दरजा देते हैं जबकि हकीकत आपके सामने है।

पत्रकार ने बलरामपुर के डीएम से पहले ही सुरक्षा की मांग की थी लेकिन उसे डीएम ने नज़रंदाज़ कर दिया। जिलाधिकारी से पत्रकार राकेश ने अपनी हत्या की आशंका पहले ही जताई थी बावजूद उसके डीएम ने इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया।

इस तरह की घटनाएं ये जरुर बयां करती हैं कि यूपी में सत्य की आवाज़ उठाने वाले पत्रकारों का अंजाम उनको अपनी मौत से ही चुकानी पड़ रही है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here