पीएम मोदी, किसानों के बेहतर भविष्य के लिए लाया गया है कृषि कानून

वाराणसी में देव दीपोत्सव के कार्यक्रम में सम्मलित होने गए प्रधानमंत्री मोदी ने कृषि कानून को लेकर किसान के संघर्ष को विपक्ष की साजिश करार देते हुए कहा की जिनका इतिहास ही छल का रहा है वही आज किसानों को लेकर नए कानून का भ्रम फैला रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा सरकार नए कृषि कानून के तहत किसानों की आय में वृधि का विकल्प दे रही है और ये नया कानून किसानों को बेहतर भविष्य की ओर बढ़ाएगा। पहले किसानों को उत्पाद मंडी से बहार बेचने पर किसानों पर कार्रवाई होती थी पर अब किसान स्वतंत्र है अपना उत्पाद कहीं भी बेच सकते हैं।

पीएम मोदी ने कहा सरकार की नीतियों पर सवाल लोकतंत्र का हिस्सा है पर आज किसानों के कानून को लेकर विपक्ष घातक ट्रेंड चला रही है पीएम मोदी ने विपक्ष पर आरोप लगाया की सरकार अपने इस्तर पर किसानों के लिए बेहतर काम कर रही है पर विपक्ष किसानों के बीच में सरकार के खिलाफ भ्रम फैला रही है।

नए कृषि कानून को लेकर एक सवाल ये बनता है कि पीएम मोदी को किसान के हित की इतनी ही चिंता सता रही थी तो कड़ाके की ठंड में किसानों को दिल्ली बॉर्डर पर छोड़कर वाराणसी में प्रोग्राम में सम्मलित होने के बजाए किसानों के बीच जाकर उनकी समस्याओं को सुनना चाहिए था और उसका निष्कर्ष निकालना चाहिए।

बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे कई किसानों की ठंड की वजह से मौत हो चुकी है।

पीएम मोदी के भाषणों से एक बात तो साफ़ हो जाता है की सरकार कृषि कानून को लेकर पीछे हटने या उसमें बदलाव को लेकर बिलकुल भी सहमत नहीं है।

वहीं दूसरी तरफ पीएम मोदी के कृषि कानून के बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर पलटवार किया

अन्नदाता सड़कों-मैदानों में धरना दे रहें हैं

और ‘झूठ’ टीवी पर भाषण

किसान की मेहनत का हम सब पर कर्ज है।

ये कर्ज उन्हें न्याय और हक देकर उतरेगा, न ही उन्हें दुत्कार कर, लाठियां मारकर और आंसू गैस चलाकर।

जागिये, अहंकार की कुर्सी से उतरकर सोचिए और किसान का अधिकार दीजिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here