भारत बंद के आह्वान पर योगी सरकार ने कांग्रेस के नेताओं को किया नजरबंद

नए कृषि कानून पर किसानों के भारत बंद के समर्थन में उतरे कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं को केंद्र के इशारे पर पुलिस ने नजर बंद कर दिया है|

भारत बंद को लेकर आज शामली कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष दीपक सैनी को घर में ही नजर बंद कर दिया गया है| जिला प्रशासन द्वारा भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया|

वहीं गाजीपुर में शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुनील साहू ने कहा की अन्नदाता किसानों के समर्थन में कांग्रेस पार्टी के भारत बन्द के समर्थन की सफलता को रोकने के लिए हमें घर से उठाकर पुलिस द्वारा कोतवाली में लाया गया है| भारतीय जनता पार्टी का इस तरह का कृत्य बहुत ही निंदनीय है और ये बताता है की सरकार किसान विरोधी है| कांग्रेस नेताओं को कोतवाली में बंद करानें का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्रयास विफल होगा, सुनील साहू ने नारा लगते हुए कहा- ‘किसानों के सम्मान मैं कांग्रेसी हैं मैदान में साथियों संघर्ष जारी रहेगा’

किसान के समर्थन में उतरे कांग्रेस के महोबा जिला अध्यक्ष तुलसीराम लोधी को पुलिस ने जबरन उठाकर नजरबंद कर दिया|

वहीं दूसरी तरफ गोरखपुर की जिला अध्यक्ष निर्मला पासवान और प्रदेश सचिव त्रिभुवन नारायण मिश्रा को पुलिस द्वारा नजरबंद कर दिया गया| साथ ही बस्ती के जिला अध्यक्ष को समर्थकों संग गिरफ्तार करके पुलिस लाइन भेजा गया|

भाजपा सरकार के बनाये गये काले कृषि कानून के विरोध में किसानों के साथ खड़े होने पर बरेली के जिला और शहर अध्यक्ष को भरी पुलिस बल के साथ हाउस अरेस्ट किया जा चुका है|

बलिया के कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ओम प्रकाश पांडेय को भारत बंद का हिस्सा बनने से रोकने के लिए नजरबंद कर दिया है|

साथ ही प्रदेश के तमाम जिलों में भारत बंद का समर्थन करने पर योगी सरकार ने कांग्रेस नेताओं को किया है नजरबंद

इसको लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के ट्वीट कर सरकार की कार्य शैली पर सवाल खड़े करते हुए कहा-

जो किसान अपनी मेहनत से फसल उगाकर हमारी थालियों को भरता है, उन किसानों को भाजपा सरकार अपने अरबपति मित्रों की थैली भरने के दबाव में भटका हुआ बोल रही है।

ये संघर्ष

आपकी थाली भरने वालों

और

अरबपतियों की थैली भरने वालों

के बीच है।

आइए, किसानों का साथ दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here