कोरोना संक्रमण के मरीजों में मिल रहे कई चौकाने वाले लक्षण

जहां एक तरफ कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या में कमी आने लगी थी| वहीं ठंड के बढ़ने के साथ साथ कोरोना के संक्रमित होने वालों की भी संख्या अब धीरे-धीरे बढ़ रही है| जिसको लेकर कोरोना से बचाओ पर केंद्र सरकार नए नए दिशानिर्देश जरी कर रही है|

पोस्ट कोविड पहुंच रहे मरीजों में 80 प्रतिशत लोगों को सांस लेने की समस्या हाई बीपी, शुगर अनियंत्रित होने के साथ न्यूरो जैसी समस्या का लक्षण पाया गया है|

दूसरी तरफ ओपीडी में इलाज के लिए आय मरीज खुद के संक्रमण होने की बात को छुपा रहे हैं| जिसके चलते संक्रमण का खतरा और बढ़ सकता है| चिकित्सा विशेषगों का कहना है की जिनको एक बार कोरोना हो चुका है वो इधर उधर भटकने के बजाए पोस्ट कोविड ओपीडी आयें|

राजधानी के केजीएमयू, लोहिया संस्थान, सिविल व बलरामपुर में कोविड ओपीडी चल रही है| यहां रोजाना 8 से 10 मरीज पहुंच रहे हैं| जहां बचाओ कार्य के लिए कई बेडों का भी इंतेजाम किया गया है| वहीं मंगलवार को कोरोना से संक्रमित के 233 नए मामले सामने आए हैं साथ ही संक्रमण के चलते 4 लोगों की मौत भी हो चुकी है|

केजीएमयू के रेस्पिरेटरी विभाग के डॉ. अजय शर्मा ने बताया कि ओपीडी में आने वालों को ठंडी चीजों का सेवन न करने की सलाह दी है| गहरी सांस लेने की सालन देते हुए कहा की अगर सीने में जकडन है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें| जो लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं वो ओपीडी में पहुंचकर चिकित्सक को इसकी जानकारी दें| इसमें वायरस को ध्यान में रखकर मरीज की स्थिति का आकलन होगा|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here