भाजपा का किसानों के प्रति रवैया कर रहा देश की छवि धूमिल: अखिलेश

केंद्र सरकार के नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों ने अपने आन्दोलन की गतिरोध को तेज़ कर दिया है| किसानों ने सरकार से कृषि कानून को वापस लेने की मांग की है| जिसपर सरकार ने पहले ही अपनी असहमति जताई है| वहीं अब किसानों का कहना है कि सरकार अडानी-अंबानी को कृषि कानून के जरिये फायदा पहुंचाना चाहती है| इसलिए अब हिम 14 तारीख को इनके नीजी कंपनियों के बहार प्रदर्शन करेंगे साथ ही इनके सभी प्रोडक्ट का बहिष्कार करते हैं|

वहीं केंद्र सरकार का किसानों के प्रति रवैये को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आलोचना की है| उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का किसानों के प्रति रवैये ने देश की छवि को पूरी दुनिया में धूमिल किया है| अखिलेश ने कहा की हम किसानों के साथ समर्थन में 14 दिसंबर को जिला मुख्यालय पर आन्दोलन करने की बात कही है|

अखिलेश ने कहा की कड़ाके की ठंड में किसान सड़क पर बैठा हुआ है और सरकार अपना कठोर रवैया अपनाए हुए है, जो की बेहद निंदनीय है|

सरकार के इस प्रकार के कृत्य से दुनिया भर में भारत के लोकतांत्रिक छवि पर गलत असर पढ़ रहा है| सरकार के अत्याचारी रवैये के बाद भी सपा के लोग समर्थन में किसान यात्राएं निकाल रहे हैं| उन्होंने अफ़सोस जताते हुए कहा कि मऊ यात्रा निकाल रहे पूर्व विधायक सुधाकर सहित सपा के 15 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here