उत्तर प्रदेश में अपराधियों के सामने ‘मिशन शक्ति’ फेल

उत्तर प्रदेश में बढ़ते महिला अपराध को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने ‘मिशन शक्ति’ अभियान की शुरुआत की| ‘मिशन शक्ति’ अभियान के शुरुआती दिन से ही अपराधियों पर इसका कोई ख़ास असर नहीं दिखा है| जिसके बाद स्थिति ये है की आए दिन महिलाओं के साथ अपराध की घटनाओं में बढोत्तरी हो रहा है|

अपराधी खुलेआम महिलाओं के साथ जघन्य अपराध किये जा रहे हैं जो महिलाओं में एक डर की स्थिति को बना रहा है| एक महिला ने सुरक्षा पर पूछे गए सवाल पर कहा कि सरकार सिर्फ ‘मिशन शक्ति’ अभियान को चला रही है| उसके तहत किसी भी अपराधी पर कोई कार्रवाई नहीं हो रहा| जिसकी वजह से आए दिन महिलाओं के साथ दुष्कर्म, शोषण जैसे अपराध हो रहे हैं|

इसी तरह से आज की कुछ घटनाएं है जो सरकार के महिला सुरक्षा पर बनाये गये ,’मिशन शक्ति’ अभियान पर सवाल खड़े कर रहा है-

पहली घटना सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर की है जहां महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है|

दूसरी घटना रामपुर की है जहां छेड़छाड़ का विरोध करने पर अपराधियों ने नाबालिग युवती को छत से नीचे फेंक दिया|

तीसरी घटना सीतापुर की है जहां 6 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है|

महिलाओं के साथ अपराध की ये कुछ घटनाएं हैं| ऐसी ही बहुत सी घटनाये है जो महिलाओं के साथ हर रोज हो रही हैं| कुछ महिलाएं छेड़छाड़ से परेशान होकर आत्महत्या कर ले रही हैं तो कुछ की हत्या कर दी जा रही है| इस तरह की घटनाएं बताती हैं कि सरकार का ‘मिशन शक्ति’ केवल प्रचार प्रसार तक ही सीमित है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here