देश की आजादी को बरकरार किसान ने बनाया है, अंबानी-अडानी ने नहीं- राहुल गांधी

केंद्र सरकार की तरफ से बनाये गये नए कृषि कानून को लेकर शुक्रवार को किसान और सरकार के बीच 9वें दौर की वार्ता हो रही है| पहले हुई 8 बार की वार्ता में किसानों और सरकार के बीच का हल नहीं हो पाया है| किसानों के समर्थन में उतरी कांग्रेस पार्टी ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए शुक्रवार को किसान अधिकार दिवस के रूप में मना रही है| कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी किसान अधिकार दिवस पर अपने सैकड़ों कार्यकर्ता के साथ उप राज्यपाल अनिल बैजल के निवास का घेराव करने के लिए राज निवास की ओर आगे बढ़ रहे हैं|

किसानों के इस आन्दोलन को लेकर राहुल गांधी ने कहा की किसान जो कर मई उसका समर्थन करता हूं| मैं किसानों के साथ हु और किसानों के साथ रहूंगा| राहुल गांधी ने कहा की पहले भी मोदी सरकार ने किसानों की जमीन को छीनने की कोशिश की थी तब हमने उन्हें रोका था और आज फिर मोदी सरकार किसानों की जमीन को छीनने का प्रयास कर रही है|

वहीं सरकार पर हमला करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि देश के अन्नदाता अपने अधिकार के लिए अहंकारी मोदी सरकार के ख़िलाफ़ सत्याग्रह कर रहे हैं। आज पूरा भारत किसानों पर अत्याचार व पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों के विरुद्ध आवाज़ बुलंद कर रहा है। आप भी जुड़िये और इस सत्याग्रह का हिस्सा बनिये”।

किसानों के साथ वार्ता के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमेटी के लिए नामित 4 सदस्यों में से एक के इस्तीफे के बारे में राहुल गांधी ने गोदी मीडिया को लेकर पर तंज कसते हुए कहा कि ये माया है माया ये पूरा का पूरा मीडिया क्रिएटेड माया है और ये माया तूने वाली है| जिस दिन ये माया टूटेगी उस दिन देखना क्या होता है|

राहुल ने कहा मोदी सरकार को कानून हर हाल में वापस लेना होगा| सरकार को ये समझ जाना चाहिए कि किसान अब पीछे हटने वाले नहीं है| ये हिंदुस्तान है ये पीछे नहीं हटता है| प्रधानमंत्री को कभी न कभी कानून वापस लेना ही पड़ेगा|

मोदी सरकार पर गरजे राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को किसानों से कोई प्रेम नहीं है| उन्हें लग रहा है कि किसान में बिलकुल छमता नहीं है और 10-15 दिन रहकर वो यहां से चले जाएंगे| नरेंद्र मोदी हिंदुस्तान का किसान न ही डरेगा न ही हटेगा और भागना आपको पड़ेगा|

उन्होंने कहा कि देश को आज़ादी अडानी अंबानी ने नहीं दिलाई है, किसान ने दी है| आज़ादी को बरकरार रखने में किसानों का योगदान है न की अडानी-अंबानी का| ये नए कृषि कानून किसानों के अधिकार और किसानों को ख़त्म करने के लिए बनाई गई है| मोदी सरकार ये बात भूल चुकी है कि आजादी को बरकरार हिंदुस्तान के किसान ने रखा है| जिस दिन देश की खाद्य सुरक्षा चली जाएगी उस दिन देश की आजादी चली जाएगी|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here