योगी सरकार के चार साल पूरे, कैसा रहा कार्यकाल जानने के लिए खबर को पढ़े

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आज चार साल पूरे हो चुके हैं। आज ही के दिन 2017 में भाजपा ने पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाया था। चुनाव से पहले भाजपा में मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर मनोज सिन्हा, केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा का नाम प्रकाश में आया था। लेकिन विस चुनाव में जीत हासिल करने वाली भाजपा व आरएसएस संगठन ने मुख्यमंत्री की टोपी योगी आदित्यनाथ के सर पर पहना दी। जिसके बाद पार्टी में एक हलचल सी मच गई। बता दें यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से कई बार सांसद रहे हैं।

योगी सरकार के 4 साल का कार्यकाल

भाजपा ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाने के साथ-साथ 2 उपमुख्यमंत्री भी बनाए दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य। सत्ता में काबिज होने के बाद योगी आदित्यनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा की प्रदेश में जितने भी अपराधी हैं या तो वो सुधार जाए या फिर प्रदेश छोड़कर चले जाएं। इतना ही नहीं सीएम योगी ने कहा कि अब लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। हर साल 2 लाख रोजगार दिया जाएगा। इसी प्रकार से सीएम योगी ने कई सारे ऐलान किए। सीएम योगी के बयान को सुनने के बाद लगा कि यूपी में जो अभी तक नहीं हो पाया वो अब होगा पर इन चार सालों में सब ठीक उसके उलट हुआ।

योगी सरकार में हुए महिलाओं के साथ अपराध पर एक नजर

भाजपा जहां एक तरफ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे लगा रही थी। तो वहीं दूसरी तरफ हाथरस, बलरामपुर, उन्नाव जैसी तमाम घटनाएं ये बता रही है कि भाजपा सरकार महिलाओं के साथ हो रहे अपराध को रोकने में असक्षम है। महिला सुरक्षा में विफल योगी सरकार ने हाथरस की गुड़िया का अंतिम संस्कार रातों रात करा दिया। एक मां को अपनी बच्ची का चेहरा आखरी बार देखने भी नहीं दिया गया। इतना ही नहीं मामले में फंसे हाथरस के डीएम को बचाने के लिए योगी सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी। मामला न्यायालय के संज्ञान में आने के बाद डीएम का ट्रांसफर कर दिया गया।

चार सालों में रोजगार का हाल

सीएम योगी ने कहा था कि हर साल दो लाख लोगों को रोजगार दिए जाएंगे।वहीं दूसरी तरफ 69000 शिक्षक भर्ती और यूपीएसएसएससी घोटाले जैसे तमाम घोटालों से योगी सरकार लिप्त योगी सरकार ट्विटर पर लोगों को नौकरियां बांट रही है। रोजगार को लेकर आवाज़ उठाने वालों पर सरकार लाठियां चलवा कर उन्हें जेल की सलाखों के पीछे डलवा दे रही है। जिससे वो रोजगार को लेकर सवाल न उठा सके।

इसी क्रम में योगी सरकार लगातार आगे बढ़ रही है। प्रचार प्रसार और सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों में भ्रम फैलाकर सीएम योगी वाह-वाही में मस्त हैं। सीएम योगी शायद ये बात भूल चुके हैं कि उनके कार्यकाल के 4 साल पूरे हो चुके हैं और एक साल बाद यानी 2022 में दोबारा यूपी में विस चुनाव होने हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here