किसान ने रिश्वत देने से मना किया तो सिपाही ने चौकी में बंद करके पीटा

यूपी में पुलिस की कार्यशाली पर सवाल उठाना अब आम बात हो चुका है| ऐसी ही घटना बरेली की है जहां पुलिस सवालों के घेरे में है| सिपाही द्वारा 1000 रुपए रिश्वत न देने पर किसान को चौकी में बंद कर पीटा| मामले की शिकायत सीओ से की गई| जिसमें बताया गया की किसान अपने पड़ोसी से उपले को लेकर भिड़ गया था| दोनों पक्षों में मारपीट को लेकर उनपर शांतिभंग के तहत कार्रवाई की गई|

पृथ्वीपुर गांव के निवासी रामवीर यादव ने बताया की उपलों को लेकर गांव के श्रीपाल से झगडा हो गया| पुलिस ने दोनों पक्षों पर कार्रवाई करते हुए शांतिभंग में चालान कर दिया गया| दोनों पक्षों को एक किराए के वैन में बैठाकर बेल के लिए आंवला ले गए| वापसी में वन में हम दो लोग ही थे|

आरोप लगाते हुए उन लोगों ने कहा कि पुलिस ने वापसी के दौरान हम चार लोगों से वन के किराए के रूप में एक-एक हजार रुपए की मांग की गई| रामवीर ने रिश्वत देने से मना कर दिया| जिसके बादरा तीनों ने भी पैसे देने से मना कर दिया| जिसके बाद नाराज सिपाही ने तीन लोगों को गांव के बहार गाड़ी से उतार दिया और रामवीर को अपने साथ चौकी लेकर चले गए| चौकी में रामवीर की जमकार पिटाई की गई| पिटाई की वजह से शरीर पर काफी चोटों के निशान आए हैं| जिसकी शिकायत सीओ आंवला से की गई|

दरअसल दोनों पक्षों में कड़े उपले तोड़ने को लेकर विवाद हुआ और दोनों पक्षों में मारपीट हुई| रामवीर द्वारा श्रीपाल ने कड़े उपले तोड़ दिए गए थे| दोनों पक्षों को 112 नंबर से चौकी ले जाया गया| चौकी प्रभारी ने दोनों पक्षों को समझाने की कोशिश की, न मानने पर थाने लेजाकर दोनों का 151 में चालान कर दिया गया| उक्त रामवीर पुलिस की कार्रवाई से नाराज होकर आरक्षी शिवम् के विरुद्ध मारपीट और 1000 रुपए घूस मांगने का मनगढ़ंत आरोप लगाए गए हैं|

मामले को लेकर एसएसपी रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि रामवीर और श्रीपाल का उपले तोड़ने को लेकर विवाद हुआ था| 112 पर पुलिस को सूचना मिली, पुलिस द्वारा दोनों पक्षों को समझाने की कोशिश की गई| पुलिस की कार्रवाई से नाराज होकर सिपाही पर मनगढ़ंत आरोप लगाया है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here