सरकार के खिलाफ संघर्ष की लड़ाई में 10 किसान शहीद, मोदी जी उत्सव में व्यस्त: कांग्रेस

किसान आन्दोलन के आज 16वें दिन भी कृषि कानून को लेकर किसान और सरकार के बीच की जंग जारी है| हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, राजस्थान समेत कई प्रदेश के किसान केंद्र सरकार के कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर डटें हुए हैं| दरअसल किसानों की मांग है कि सरकार की तरफ से कृषि को लेकर बनाये गये तीनों कानून को तत्काल रद्द रद्द किया जाए| जिसके बाद किसानों ने सरकार के प्रस्तावों को अस्वीकार करते हुए आन्दोलन को और तेज करने की बात कही है| वहीं दूसरी तरफ कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि सरकार किसी भी दशा में कानून वापस नहीं लेगी|

किसानों की समस्याओं को छोड़कर भाजपा के नेता व मंत्री कई कार्यक्रमों का हिस्सा बन रहे हैं| इससे ये साफ़ होता दिख रहा है की सरकार को किसानों की समस्याओं से कोई मतलब नहीं है|

खबर की मानें तो जब अन्नदाता अपने अधिकारों की लड़ाई के लिए ठंड में सड़कों पर संघर्ष कर रहा है| तब पीएम मोदी नए संसद भवन के कार्यक्रम में शामिल होकर मंत्रियों के लिए नए संसद भवन के निर्माण की नीव रख रहे थें|

जहां एक तरफ अन्नदाता कड़ाके की ठंड में अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहा ,तो वहीं दूसरी तरफ नए संसद भवन में व्यस्त सरकार किसानों की मांग पर ध्यान नहीं देना चाहती है|

वहीं दूसरी तरफ किसान के मुद्दे को लेकर कांग्रेस ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर सवाल खड़ा किया है| बता दें किसान के प्रति सरकार के रवैये और नए कृषि कानून को लेकर कांग्रेस के नेता व कार्यकर्ता लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं इस बीच कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर से ट्वीट कर कहा कि “10 किसान शहीद हो चुके हैं किसान आंदोलन में। मोदी जी आज उत्सव मनाने जा रहे हैं”?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here